हाँ वो खूबसूरत है

हाँ वो खूबसूरत है,
नहीं, बड़ी बड़ी आँखें नहीं उसकी
न वो सूरमा लगाती है
पर उन आँखों में सपने हज़ार हैं
उन सपनों को दिल् ओ जान से चाहती है
हाँ वो खूबसूरत है,
लाली lipstick से सजे नहीं अधर उसके
न कोई पंखुड़ी गुलाब की उनमें नज़र आती है
पर बातों की धनी है वो
अपने शब्दों से शहद टपकाती है
हाँ वो खूबसूरत है,
पोशाकों में उसकी कोई brand नहीं झलकता
यूँ ही बिखरी सी चली आती है
पर बिखरने देती नहीं सपने वो अपने
और दूसरों को भी सपने देखना सिखाती है
हाँ वो खूबसूरत है,
उसका जीवन खूबसूरत है
बाहरी आवरण से परे उसका मन खूबसूरत है
खूबसूरती उसकी उसके आचरण में है समाई
उससे जुड़ा हर कण खूबसूरत है।

Beauty lies in the eyes of beholder. Having a perfect make up is not beauty. Beauty is something else, it is in your heart not in your face. If your heart is beautiful you are beautiful You dont need to show your eyebrows in perfect shape you dont need to put liner in your eyes. These all are just for outer appearance. Real beauty is your pure soul,your behaviour, your helpings nature your will power.

Advertisements

धागे: रिश्तों के

सिलकर रखा था बड़े जतन से रिश्तों को उसने…
पर एक धागा शायद कुछ महीन रह गया

सुकून मेरा……

I am very emotional kind of person.Emotional more with non-living things. Like my pen, pencil,pillow,curtains all are my friends. I can talk with them whole day without getting bored, same as I talk with you and all. So, this habbit sometime creats trouble.As I love my pens a lot, I can’t throw them out….never. So I have a huge collection of used pens. For me it is a collection but for my mother it is garbage…..a big big garbage.

IMG-20190316-WA0005

So Mom told me she will not tolerate this at home any more.Either throw it or I will throw you😁😂😂😂….But I got an idea😎

IMG-20190316-WA0003

So, this was an idea to create some decoration material from this waste.

IMG-20190316-WA0008

Aaahh….this colour made my day. I love to see my collection in right track ,beautiful rose ….

IMG-20190316-WA0013IMG-20190316-WA0012IMG-20190316-WA0015

Finally this is what I actually thought before making it.Colourfull beautiful wall hanging. Isn’t it cool?

It gives me relief ,a सुकून is something I got from it and yaa it also compliments my curtain😊.

I must say…….

A different way to welcome Holi : a festival of colours.😁

तेरा आना …तेरा जाना

तुमसे मिलना ऐसा था…..
जैसे ढूंढ लिया हो किसी भंवरे ने फूल सबसे रसीला
सूखे के बाद की वो बारिश, हर एक तिनका गीला
वसंत आया हो जैसे बाद पतझड़ के
जैसे खिला हो कमल कोई पास कीचड़ के
फूलों को देख कोई तितली मुस्कुराई हो जैसे
झरने की हर एक बूंद साँसों में समाई हो जैसे
जैसे जला गया हो अंगीठी कोई सर्द सी रात में
लकीरें मनमुताबिक बन गयी हों जैसे हाथ में
ऐसा लगा जैसे….
ज़िन्दगी में एक और ज़िन्दगी हो गयी हो
जैसे दिल् पर दिल् की हुकूमत हो गयी हो।

 

और तेरा दूर जाना ऐसा था….
जैसे छीन ली हो साँसे किसीने देकर जीवन एक पल को
रुक रुक कर रुक ही गयी हो सांस अंतिम मेरी
जैसे कोई अँधेरा निगल गया हो आने वाले कल को
और आज का सूरज ले डूबा हो हर पहचान मेरी
जैसे मुरझा गया हो वो फूल सबसे प्यारा
हर तितली ने जैसे नकार दिया हो उसे
जैसे तोड़ गया हो खिलती कली को एक हत्यारा
और हो असमंजस इल्जाम लगाए किसे
जैसे सागर ले डूबा हो अपनी ही लहरों को
बून्द बारिश की भी सुखा गई हो धरती का तन
जैसे थाम के बैठा हो काल आठों पहरों को
इंद्रधनुषी कालिमा ने ढंक लिया हो गगन
ऐसा ही था तेरा जाना
जैसे ज़िन्दगी में ही शामिल हो चली हो मौत कहीँ
जैसे…….जैसे दिल् ने कहा हो चीखकर….अब नहीं

 

 

 

 

#IndiaWantsRevenge

कल तक था किसी माँ का लाडला
आज देश उसे शहीद कहता है
जो कल तक था सहारा किसीके बुढ़ापे का
आज वो तिरंगे में लिपटा रहता है
पूछती हैं सवाल वो नन्हीं निगाहें हम सभी से
क्यों हमारा ये तंत्र इन जालिमों के जुल्म सहता है
कभी सोचकर देखो अपने किसीको उस जगह तुम
रूह कांप सी जाती है ये दिल् दहल उठता है
जो था कभी किसीकी उम्मीदों का सूरज
आज चहुँ ओर अँधेरा दिखता जब वो डूबता है
आज देश उसे शहीद कहता है
देकर सांत्वना किनारा कर लेने वालो
जमीर जगाओ अपना अब वार करो तुम भी
राजा बन राजनीति में मशगूल रहने वालो
बन क्रांतिकारी इनका संहार करो तुम भी
हमारे अपनों का खून बहा वो जश्न मनाते होंगे……
एक एक को चुन कर प्रहार करो तुम भी
पूरे देश की अब एक ही है आवाज
अंत हो आतंक का, एक के बदले हज़ार करो तुम भी
सोचो मत बनाओ रणनीति,
अब आर या पार करो तुम भी
संहार करो तुम भी…….……

साल बेमिसाल 2018

कुछ साल बेमिसाल होते हैं
एक साल के ही होते हैं बेशक
पर चर्चे उनके कई साल होते हैं
कुछ साल बेमिसाल होते हैं…..

तारिखें बदलती हैं जैसे बदला करती है
दिन आते हैं वही हफ्ते के साथ
पर कुछ तारीखों के किस्से कमाल होते हैं
कभी डायरी के पन्नों में,
तो कभी नीली इंक के बीच लाल होते हैं
कुछ साल बेमिसाल होते हैं…..

वक़्त को थाम लेते हैं कुछ घण्टे
कुछ मिनटों में ज़िन्दगी समा जाती है
कभी ज़िन्दगी सामने आ जाती है हमारे
कभी कुछ हसरते पूरी हो जाती हैं
पूरे साल का एक साल
और उस साल में हमारे अपने कई साल होते हैं
कुछ साल बेमिसाल होते हैं

मेहरबान खुदा होता है कभी हमपर
कभी नेमत उसकी हम पर बरसती है
कभी वो हमें हंसाता है देकर खुशियां हज़ार
कभी ज़िन्दगी हमारी संग में हंसती है
कभी सालों में ज़िन्दगी, कभी ज़िन्दगी में कई साल होते हैं,
कुछ साल बेमिसाल होते हैं
कुछ साल कमाल होते हैं।

माँ

माँ…शब्द मात्र नहीं एहसास है
ईश्वर भी नतमस्तक जिसके सामने
वो स्नेह की अनुभूति, वो अलौकिक प्रकाश है
माँ…शब्द मात्र नहीं एहसास है

शक्ति की सूरत भी है
त्याग की मूरत है वो
ममतामयी जीवनदायनी
हर रिश्ते से खूबसरत है वो
जब जब असफलता घेरती हमें,
हिम्मत मिली उसीसे ,मिली उसीसे हर आस है
माँ…शब्द मात्र नहीं एहसास है

ख्याल रखती वो हर पल हमारा
हर घड़ी हमसे जुड़ी उसकी धड़कन है
समझ सके जो हमारा हर इशारा
हमारी ख़ुशी में ही खुश हो उठता उसका मन है
बिन मांगे जो लुटाती हम पर स्नेह अपना
बिन बोले वो समझे गर हम निराश हैं
माँ…शब्द मात्र नहीं एहसास है

ईश्वर की सबसे खूबसूरत कृति वो
बनाकर जिसे वो भी सर झुकाता है
अपनेआप में ही एक पूरी संस्कृति वो
छूकर चरण मात्र जिसके जीवन सफल हो जाता है
ईश्वर से भी बढ़कर स्थान उसका
उससे जुड़ा हर शख्श ख़ास है
माँ…शब्द मात्र नहीं एहसास है